सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

popads

Featured post

गोकुल धाम सोसाइटी में चुदक्कड़ परिवार- 2

 हॉट सेक्सी वाइफ की चुदाई तारक मेहता का उल्टा चश्मा की गोकुल धाम सोसाइटी में कैसे हुई. जवान बेटी के सामने भिड़े और माधवी ने खुलकर सेक्स किया. दोस्तो, मैं कबीर पटेल, आप मेरी सेक्स कहानी में भिड़े और माधवी की चुदाई का मजा ले रहे थे. हॉट सेक्सी वाइफ की चुदाई कहानी के पहले भाग लॉकडाउन में माधवी की अन्तर्वासना में अब तक आपने पढ़ा था कि माधवी अपने पति भिड़े के लंड को चूस रही थी, जिससे भिड़े का लंड तन्ना उठा था, मगर वो अभी भी माधवी के मुँह में अपना लंड चला रहा था. अब आगे हॉट सेक्सी वाइफ की चुदाई: थोड़ी देर और माधवी का मुँह चोदने के बाद जब भिड़े ने अपना सख्त लंड उसके मुँह से निकाला तो माधवी ने थोड़ी चैन की सांस ली और वो फिर से भिड़े के लंड पर बैठ गयी. उसने भिड़े के लंड को एक और बार अपनी चूत में समा लिया. माधवी की चुत को मानो जन्नत मिल गई थी. वो अपनी गांड आगे पीछे करती हुई लंड की सवारी का मजा लेने लगी. अभी उन दोनों की चुदाई दोबारा चालू किए हुए कुछ ही मिनट हुए थे कि तभी सोनू अपने कमरे से बाहर निकल आई. आखिरकार वही हुआ, जिसका भिड़े को डर था. सोनू ने अपने आई और बाबा को चुदाई करते हुए देख लिया था. वो सोनू को द
हाल की पोस्ट

गोकुल धाम सोसाइटी में चुदक्कड़ परिवार- 1

 हॉट वाइफ सेक्स कहानी में पढ़ें तारक मेहता का उल्टा चश्मा के भिड़े और उसकी बीवी माधवी की चुदाई! माधवी की चूत गर्म हो रही थी, वो भिड़े को भी गर्म करने लगी. दोस्तो, आपने मेरी पिछली कहानी तारक मेहता का उल्टा चश्मा का चुदक्कड़ परिवार पढ़ी और पसंद की. धन्यवाद. अब मैं कबीर पटेल आपको इसी सोसाइटी के दूसरे घर में यानि शिक्षक भिड़े और माधवी के घर में ले जा रहा हूँ. तो मजा लें हॉट वाइफ सेक्स कहानी का! हॉल में लगे टीवी पर न्यूज एंकर खबरें सुना रही थी. ‘इस वक़्त की सबसे बड़ी खबर आपको बता दें कि बॉलीवुड की गायिका कनिका कपूर कोरोना पॉजिटिव पाई गई हैं. खबर बड़ी है, सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक कनिका कपूर लंदन से लौटी थीं और लखनऊ के एक पार्टी में पहुंची थीं, जहां वो लगभग 400 लोगों से मिली थीं.’ सुबह सुबह टीवी पर अपने कपड़ों को प्रेस करते हुए भिड़े, जो गोकुलधाम सोसाइटी का एकमेव सेक्रेटरी था और शिक्षक था. वो कोरोना के समाचार देख ही रहा था कि तभी पर्पल कलर की बिना स्लीव वाली साड़ी पहने माधवी, उसके और टीवी के बीच में आकर खड़ी हो गयी. ‘काय करतोस माधवी? अरे टीवी के आगे से हटो ज़रा, समाचार देखने दो!’ भिड़े ने प्रेस कर

तारक मेहता का उल्टा चश्मा का चुदक्कड़ परिवार

 इस फेंटेसी Xxx स्टोरी में मैंने तारक मेहता का उल्टा चश्मा वाले सोढी और उसकी बीवी की गांड चुदाई की कल्पना की है. देश में लॉकडाउन था तो सबको चुदाई ही सूझती थी. हैलो फ्रेंड्स, ये फेंटेसी Xxx स्टोरी एक कल्पना पर आधारित है, इससे किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाने की मंशा नहीं है. मगर जिस तरह से टीवी पर आने वाले सीरियल तारक मेहता का उल्टा चश्मा में एक पंजाबी सोढ़ी को अपनी पारसी बीवी रोशन के साथ मस्ती करते हुए दिखाया जाता है. उस मस्ती से मेरे दिमाग में उनके बीच होने वाले सेक्स की कल्पना ने जन्म लिया. साथ ही उन दोनों का लड़का गोगी को भी मैंने इस सेक्स कहानी में एक रोल दिया है. आइए फेंटेसी Xxx स्टोरी का मजा लेते हैं. जैसा कि आप सभी को मालूम है कि तारक मेहता वाले सीरियल में सोढ़ी नामक एक सरदार बड़ा ही नॉटी दिखाया जाता है और उसकी सेक्सी बीवी रोशन भी बड़ी चुलबुली किरदार है. रोशन अपने मस्त फिगर के कारण सोढ़ी को हमेशा ललचाती रहती है. सोढ़ी भी अपनी बीवी को किसी न किसी तरीके से पकड़ कर चोद देना चाहता था. पिछले साल जब पूरे देश में लॉकडाउन लग गया था और इसकी वजह से पूरा देश बंद हो चुका था. उसका असर गोकुलधाम परिवार

मेरी सुहागरात की कहानी

 मेरी शादी ठीक से हुई, मेरे जिम्मे सिर्फ़ दो काम थे, पहला घर और ससुराल में शादी की सभी परम्पराएँ पूरी करना और दूसरा शादी में शामिल मेहमानों से शादी की शुभकामनाएँ स्वीकारना ! इसके अलावा शादी की तैयारियों के कई काम भी जो चलते फिरते मुझे नजर आते, जल्दी ही उन्हें करना पड़ता या उन्हें करने के लिए किसी को कहना पड़ता। suhagraat ki chudai main kabhi na bhool payi… बारात लेकर स्नेहा के गांव जाना और फ़िर स्नेहा के साथ शादी करके लौटते समय तक तो मैं बहुत थक गया था। पर सारी थकान इस सोच से दूर करता कि अब स्नेहा मुझे रोज चोदने के लिए मिल गई है। हमारे समुदाय में एक कहावत है- ‘लुगाई रो हाथ कर ले अपणा, सख्ती कम जोर घणा’ इस कहावत को चरितार्थ होते मैंने अभी ही देखा। मेरी सारी थकान तब फुर्र हो जाती जब स्नेहा का हाथ ऊपर से ही सही मेरे लंड पर लग जाता। इ स आनन्द को बताने मुझे शब्द नहीं मिल रहे हैं। पर साथ ही मैं महसूस कर रहा था कि स्नेहा भी मेरे साथ सैक्स का यह खेल खेलने का मजा ले रही है। उसे जब भी मौका मिलता, वह मेरे लंड पर हाथ रख देती। लौटते में हम अपनी कार में थे और ड्राइवर तथा मेरे भाई के दोनो बच्चे साथ में ह

भाई बहन की चुदाई के सफर की शुरुआत-20 (Family Sex Story: Bhai Behan Ki Chudai Ke Safar Ki Shuruat- Part 20)

भाई बहन की चुदाई के सफर की शुरुआत 1 to 20 ( View all stories in series 1 to 20 ) दोस्तो, मेरी हिंदी सेक्स स्टोरी के उन्नीस भाग आप पढ़ चुके हैं, मुझे पाठकों से काफी ईमेल आ रहे हैं, आप सभी पाठकों का दिल से धन्यवाद। सुबह नाश्ता करने के बाद हम सब लोग घूमने निकल गए। आज हम पूरे परिवार के साथ घूमने निकले थे तो बड़े लोगो के साथ खुले में चुदाई नहीं कर सकते थे। कुछ देर बाद हम वापस अपने केबिन में आ गए। चाचा चाची, नेहा के साथ अपने रूम में चले गए और मैं, ऋतु और मम्मी पापा के साथ उनके रूम में चले गए। आते ही ऋतु हरकत में आई और उसने पापा का लंड पकड़ा और उन्हें लंड से घसीटते हुए बेड पर जाकर लेट गयी और उन्हें अपने ऊपर गिरा लिया। पापा का खड़ा हुआ लंड सीधा ऋतु की फड़कती हुई चूत में घुस गया और ऋतु ने अपनी टांगें पापा की कमर में लपेट कर उसे पूरा अन्दर ले लिया और सिसकारने लगी- आआ आआह आअह्ह… पाआअपाआअ… म्मम्मम्मम! मम्मी ने भी मुझे बेड पर धक्का दिया और अपनी चूत को मेरे लंड पर टिका कर नीचे बैठ गयी और मेरा पूरा लंड हड़प कर गयी अपनी चूत में! “उयीईईई ईईईईई… अह्ह्ह- उनके मुंह से एक लम्बी सी सिसकारी निकली। पापा ने भी चोदत

भाई बहन की चुदाई के सफर की शुरुआत-19 (Family Sex Story: Bhai Behan Ki Chudai Ke Safar Ki Shuruat- Part 19)

भाई बहन की चुदाई के सफर की शुरुआत 1 to 20 ( View all stories in series 1 to 20 )  दोस्तो, मेरी कहानी के पिछले भाग में आप ने पढ़ा कि कैसे हम भाई बहनों ने अपने मम्मी पापा को नंगा देखा और कैसे उन्होंने हमें चाचा चाची के साथ ग्रुप सेक्स करते देखा. उसके बाद हम सब ने मिल कर सेक्स किया. मैंने अपनी माँ को चोदा, पापा ने अपनी बेटी को चोदा. अब आगे: मैंने अपना लंड बाहर निकाला और ऋतु जो पापा के लंड से उतर चुकी थी, आगे आई और मम्मी की चूत से मेरा रस पीने लगी। अपनी चूत पर अपनी बेटी का मुंह पाकर मम्मी की चूत के अन्दर एक और हलचल होने लगी। मम्मी ने ऋतु के सर को पकड़ कर अपनी चूत पर दबा दिया और उसकी टाँगें खींच कर अपने मुंह के ऊपर कर ली और उसकी चूत से अपने पति का वीर्य चाटने लगी। ऋतु की चूत को मम्मी बड़े चाव से खा रही थी। थोड़ी ही देर में उन दोनों की चूत में दबी वो आखिरी चिंगारी भी भड़क उठी और दोनों एक दूसरी के मुंह में अपना रस छोड़ने लगी। चाची ने हम तीनों बच्चों की तरफ हाथ करके कहा- ये कितने अच्छे बच्चे हैं… वो हमारी परफ़ोरमेन्स से काफी खुश थी। मम्मी ने बेड से उठते हुए कहा- ये कुछ ज्यादा ही हो गया। ऋतु ने उनसे

भाई बहन की चुदाई के सफर की शुरुआत-18 (Baap Beti Ki Chudai : Bhai Behan Ki Chudai Ke Safar Ki Shuruat- Part 18)

भाई बहन की चुदाई के सफर की शुरुआत 1 to 20 ( View all stories in series 1 to 20 )  दोस्तो, मेरी कहानी के सत्रहवें भाग में आपने पढ़ा कि मैं, मेरी सगी बहन और चचेरी बहन, हम तीनों ने एक ऊंची पहाड़ी पर जाकर चुदाई की, मेरी चचेरी बहन ने पहली बार गांड मरवाई. चुदाई खत्म होने के बाद मैंने उनसे कहा- अब हमें चलना चाहिए, हमारे मम्मी पापा हमें ढूँढ रहे होंगे.. हम तीनों ने अपने कपड़े पहने और नीचे की तरफ चल दिए। नेहा थोड़ा धीरे चल रही थी… चले भी क्यों न…मेरी बहन की गांड जो फट गयी थी आज! हम को काफी समय हो गया था, हम भागते हुए अपने केबिन पहुंचे तो हमारे मम्मी पापा नंगे अजय चाचू के कमरे से निकल रहे थे। हम दोनों को सामने पाकर वो दोनों ठिठक कर वहीं खड़े हो गए। हमें सामने पाकर पापा ने अपने लण्ड को हाथों से छुपा लिया औऱ मम्मी भी अपने बदन को ढकने के लिए अपने छोटे से हाथो का सहारा ले रही थी पर उनसे कुछ छुप नहीं पा रहा था। हड़बड़ाहट में मम्मी ने हम से पूछा- तुम इतनी देर तक कहाँ थे?? क्या करके आ रहे हो?? वो पूरी नंगी हमारे सामने खड़ी थी इसलिए थोड़ा शर्मा भी रही थी अपनी हालत पर। ऋतु ने अपने पापा के आधे खड़े हुए लंड को घूर

भाई बहन की चुदाई के सफर की शुरुआत-17 (Behan Ki Gand Chudai : Bhai Behan Ki Chudai Ke Safar Ki Shuruat- Part 17 )

भाई बहन की चुदाई के सफर की शुरुआत 1 to 20 ( View all stories in series 1 to 20 )  दोस्तो, मेरी इन्सेस्ट स्टोरी यानि रिश्तों में चुदाई के सोलहवें भाग में आपने पढ़ा कि कैसे मेरे चाचू ने अपनी कमसिन बेटी की चूत चुदाई की. मुझे मेरी सेक्स कहानी पर काफी मेल मिल रहे हैं औऱ सभी पाठक कहानी की तारीफ कर रहे हैं, आप सभी पाठकों का दिल से धन्यवाद। थोड़ी देर लेटने के बाद चाचू और चाची चले गए। उन के जाते ही ऋतु और नेहा ने एक दूसरे की चूत चाट कर साफ़ कर दी और हम तीनों वही नंगे लेट गए। दूसरे कमरे में जाकर चाची ने शीशा हटा कर देखा और अपनी नंगी बेटी को मेरी बगल में लेटते हुए देख कर वो मुस्कुरा दी। अगले दिन सुबह हम तीनों, यानि मैं, ऋतु और नेहा नाश्ता करने के बाद पहाड़ी की तरफ चल दिए। ऋतु आगे चल रही थी। वो वही कल वाली जगह पर जा रही थी, उस ऊँची चट्टान पर। मैं और नेहा उसके पीछे थे। नेहा ने अपने हाथ मेरी कमर पर लपेट रखे थे और मैंने उसकी कमर पर। बीच बीच में हम एक दूसरे को किस भी कर लेते थे। बड़ा ही सुहाना मौसम था, आज धूप भी निकली हुई थी। नेहा थोड़ा थक गयी और सुस्ताने के लिए एक पेड़ के नीचे बैठ गयी। मैं भी उसके साथ

लेबल

ज़्यादा दिखाएं